Unmukt – उन्मुक्त

हिन्दी चिट्ठाकार उन्मुक्त की चिट्ठियाँ

ज्योतिष कूड़े का भार है

बीबीसी पर एक बेहतरीन विज्ञान श्रृंखला वंडरस् ऑफ द सोलर सिस्टम (Wonders of the Solar System) आ रही है। मैं नहीं कह सकता कि यह अपने देश में आ रही है कि नहीं। क्योंकि मेरे यहां केबल टीवी नहीं है केवल दूरदर्शन की सैटेलाइट चैनल है। यदि आप मेरी तरह के हैं तो इसे यूट्यूब में देख सकते हैं।

इस श्रृंखला के मेज़बान  प्रोफेसर ब्रायन कॉक्स (Professor Brian Cox) हैं।  आप मैनचेसटर विश्विद्यालय में प्रोफेसर और रॉयल सोसायटी युनिवर्सिटी रिसर्च फेलो (Royal Society University Research Fellow) हैं। इसके साथ वे लार्ज हार्डन कोलिडर (Large Hadron Collider) स्विटज़रलैंड में शोधकर्ता हैं।

वंडर्स् ऑफ द सोलर सिस्टम श्रृंखला की शुरुवात का दृश्य

 

इस श्रृंखला के दौरान जब वे बृहस्पति के बारे में बात करते हैं तब एक वाक्य ‘Astrology is a load of rubbish’ (ज्योतिष बकवास का भार है) का प्रयोग करते हैं। वे कहते हैं,

‘Now astrologists have said for years that Jupiter influences our lives. But we now have scientific evidence that this mighty planet does have a significant connection with our own small world.

Now, Jupiter is so different to our planet… a big ball of gas half a billion kms away. It’s difficult to see how it could have anything to do with us at all. But despite the fact that astrology is a load of rubbish, Jupiter can in fact, have a profound influence on our planet. And it’s through a force … gravity.’

इस पर ज्योतिषियों ने उस पर आपत्ति जतायी और उन्होंने फेसबोक पर अपन नया पेज (Equinox Astrology: BBC’s Wonders of the Solar System & Astrology) नाम से खोल लिया है। इस पर वे लोग कॉक्स के बारे में लिखते हैं।

‘His careless assertion was unresearched, unsubstantiated and unscientific. Has he done any empirical studies? Has he explored his birth chart? Can he cite any scientific studies disproving astrology that are not fundamentally flawed? Of course not. I have certainly never seen him at an astrology conference or read anything written by him about astrology. Cox is simply not qualified to speak on astrology and his comments amount to no more than prejudice.’

वे बीबीसी से भी इस बारे में आपत्ति कर रहे हैं।

यह सच है कि बृहस्पति ग्रह बहुत बड़ा है। इसका गुरुत्वकर्षन भी ज्यादा है। हो सकता है कि इस कारण कोई उल्का हमारी पृथ्वी के रास्ते में आ जाय। यदि ऐसा होता है तब इसके परिणाम गम्भीर हो सकते हैं: उल्का हमसे टकरा सकती है। लेकिन बृहस्पति का किसी व्यक्ति पर कोई असर नहीं होता है जैसा कि ज्योतिषी कहते हैं। यह सच है कि ज्योतिष में न कोई कोई विज्ञान है न ही कोई तर्क। यह अपने ही तर्क पर गलत है और प्रोफेसर कॉक्स की बात सच है।

कुछ समय पहले मैंने कड़ियों में ‘ज्योतिष, अंक विद्या, हस्तरेखा विद्या, और टोने-टुटके’ नाम से अपने उन्मुक्त चिट्ठे पर लिखी थी इसमें बताया था कि क्यों ज्योतिष में कोई विज्ञान नहीं है। इसे यदि आप कड़ियों में पढ़ना चाहें तो नीचे लिखी लिंक पर चटका लगा कर पढ़ सकते हैं।

भूमिका।। तारे और ग्रही।। प्राचीन भारत में खगोल शास्त्र।। यूरोप में खगोल शास्त्र।।  हेर संगीत नाटक।। पृथ्वी की गतियां।। राशियां।। विषुव अयन: हेयर संगीत नाटक के शीर्ष गीत का अर्थ।। ज्योतिष या अन्धविश्वास।। राशिफल का मेष राशि से शुरु और ज्योतिष का अपने तर्क पर गलत होना।। अंक विद्या, डैमियन – शैतान का बच्चा।। अंक लिखने का इतिहास।। हस्तरेखा विद्या और निष्कर्ष।।

यदि आप इसे एक जगह पढ़ना चाहें तब मेरे लेख चिट्ठे की इस चिट्ठी पर चटका लगा कर पढ़ सकते हैं। यह मेरी सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली चिट्ठी है। इस पर मुझे सबसे ज्यादा टिप्पणी भी मिली हैं। बहुत सारी टिप्पणियां मैंने प्रकाशित भी नहीं की। वे पुरानी टिप्पणियों की प्रतिलिपी ही थीं या फिर अपशब्द से भरी – शालीनता के परे।

ज्योतिष अपने तर्क पर क्यों गलत है और राषि फल कयों मेष राषि पर  शुरू होता है इसे यहां चटका लगा कर पढ़ा जा सकता है।

मैंने इसी बात को दूसरे तरीके से ‘आप सही हैं … मैं बदलाव कर रहा हूं‘ चिट्ठी में बताया है और अपना दुखड़ा भी रोया कि सबसे ज्यादा सर्च  ज्योतिष (Astrology), हस्तविद्या (Palmistry), अंक विद्या (Numerology) से संबन्धित शब्द हैं या सेक्स से संबन्धित। इसी बात को अन्य चिट्ठी ‘जिया धड़क धड़क जाये‘ में भी स्पष्ट किया। मालुम नहीं हम कब बदलेंगे।

यदि आप बीबीसी कड़ी का वह भाग सुनना चाहें जिसमें उस वाक्य का प्रयोग हुआ तब नीचे देख सकते हैं। आपको यह भी पता चलेगा कि बृहस्पति किसी व्यक्ति विषेश पर नहीं, जैसा की ज्योतिषी कहते हैं लेकिन किस तरह अपने गुरुत्वकर्षन के कारण पृथ्वी पर गम्भीर असर डाल सकती है। इसमें यह बात चित्रों द्वारा आसानी से समझायी गयी है।

यह एक बेहतरीन श्रृंखला है यदि आप इसे देख सकते हैं तब अवश्य अपने मुन्ने और मुन्नी के साथ देखें। अपने बच्चों के साथ समय बिताने अच्छे टीवी सीरयल, फिल्में, पुस्तकों की दुकान जाने अपने फायदे हैं। इसकी चर्चा मैंने ‘बच्चे व्यवहार से सीखते हैं, न कि उपदेश से‘ नामक चिट्ठी में किया है।

सांकेतिक शब्द

Astronomy, Astronomyculture, Family, fiction, life, Life, Religion, खगोलशास्त्र, विज्ञानजीवन शैली, दर्शनधर्म, धर्म- अध्यात्म, विज्ञान, समाज, ज्ञान विज्ञान,

Reblog this post [with Zemanta]

Filed under: खगोलशास्त्र, विज्ञान, सूचना, हिन्दी, hindi

Tags: , , , , , , , , , , , ,

3 Responses to “ज्योतिष कूड़े का भार है”


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Login